ALL राजनीति खेल अपराध मनोरंजन कृषि विज्ञान राज्य योजनाएं धर्म देश - विदेश
संकट के समय सेना का सहयोग महत्वपूर्ण -मुख्यमंत्री
March 23, 2020 • छोटा अखबार • राज्य

संकट के समय सेना का सहयोग महत्वपूर्ण -मुख्यमंत्री

छोटा अखबार।
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि कोरोना संक्रमण की इस चुनौती का सामना करने के लिए नागरिक प्रशासन के साथ-साथ सेना, बीएसएफ, अद्र्धसैनिक बल सहित अन्य केंद्रीय एजेंसियों का समन्वय भी आवश्यक है। उन्होंने कहा कि फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है, लेकिन आवश्यक होने पर सेना एवं अद्र्धसैनिक बलों की भूमिका महत्वपूर्ण होगी। उन्होंने कहा कि सैन्य बलों ने हमेशा ही आपदा के समय नागरिक प्रशासन की आगे बढ़कर मदद की है। 


गहलोत रविवार को मुख्यमंत्री निवास पर थल सेना, वायु सेना, बीएसएफ, सीआईएसएफ, सीआरपीएफ, रेलवे, आकाशवाणी, दूरदर्शन, कस्टम आदि केंद्रीय एजेंसियों के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ कोरोना वायरस के संक्रमण की स्थिति से निपटने के लिए आवश्यक सहयोग के लिए चर्चा कर रहे थे। उन्होंने सहयोग के लिए स्वयं पहल करने पर सेना के अधिकारियों की प्रशंसा की।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेशवासी इस खतरे को लेकर सजग हैं एवं आगे बढ़कर सरकार की गाइडलाइन्स का पालन कर रहे हैं, लेकिन आपात स्थिति के लिए भी हमें तैयार रहना होगा। आप सबके सहयोग से हम इस संकट से सफलतापूर्वक बाहर निकल पाएंगे। 


बैठक में एयर वाइस मार्शल एस.रवि और लेफ्टिनेंट जनरल आलोक कलेर ने कहा कि सेना राज्य सरकार को लॉक डाउन, आईसोलेशन, क्वारेंटाइन, जांच एवं उपचार सुविधा तथा अन्य आवश्यक सहयोग उपलब्ध करवाने के लिए तैयार है। सरकार जब भी हमें कहेगी, हम बिना किसी देरी के सहयोग करेंगे।
रेलवे के महाप्रबंधक आनंद प्रकाश ने कहा कि रेलवे के पास 1300 लोगों के क्वारेंटाइन तथा 200 लोगों के आईसोलेशन के लिए व्यवस्था उपलब्ध है। आवश्यकता होने पर हम सरकार को यह सहयोग प्रदान कर सकते हैं। महानिदेशक, गृह रक्षा एवं नागरिक सुरक्षा श्री राजीव दासोत ने कहा कि हमारे करीब 7 हजार 500 होमगाड्र्स किसी भी चुनौती से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार हैं।