ALL राजनीति खेल अपराध मनोरंजन कृषि विज्ञान राज्य योजनाएं धर्म देश - विदेश
प्रतिमाओं से आने वाली पीढ़ियों को प्रेरणा मिले -मुख्यमंत्री
February 23, 2020 • छोटा अखबार • राज्य

प्रतिमाओं से आने वाली पीढ़ियों को प्रेरणा मिले -मुख्यमंत्री

छोटा अखबार।
मानसरोवर के द्वारकादास पार्क में स्व. द्वारकादास पुरोहित की प्रतिमा के अनावरण के मौके पर आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि हाउस फोर होमलेस स्वतंत्रता सेनानी एवं राजस्थान हाउसिंग बोर्ड के संस्थापक अध्यक्ष स्व. द्वारकादास पुरोहित जी का सपना था। अपना सपना पूरा करने के लिए उन्होंने इमानदारी से प्रयास किए और अपने बोर्ड अध्यक्ष के कार्यकाल में 50 शहरों में आम आदमी के लिए हजारों घर बनाए। उनकी योग्यता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि अलग-अलग मुख्यमंत्रियों के कार्यकाल में वे लगातार अध्यक्ष पद पर बने रहे और विभिन्न सरकारों के साथ उनका अच्छा तालमेल रहा। 


मुख्यमंत्री ने कहा कि महापुरूषों एवं शहीदों की प्रतिमाएं इसीलिए लगाई जाती हैं ताकि उनसे आने वाली पीढ़ियों को प्रेरणा मिले और वे भी कुछ कर दिखाने का संकल्प ले सकें। हमारे देश के संस्कार, संस्कृति एवं परम्पराओं को आने वाली पीढ़ियां नहीं भूलें इसके लिए हमें उन्हें इससे अवगत कराना होगा। हमारे स्वर्णिम इतिहास के बारे में उन्हें सही जानकारी देनी होगी।
गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार का प्रयास है कि गरीब, निम्न मध्यम एवं मध्यम वर्ग को रहने के लिए छत मिल सके। उन्होंने कहा कि हाउसिंग बोर्ड ऎसी योजनाएं लाए जिनमें आम आदमी को सस्ती दर पर मकान उपलब्ध हो सके। उन्होंने बैंकों को भी आगे आकर इसमें सहयोग करने को कहा। हमारी सरकार आने के बाद हमने नीतिगत फैसला लेकर बोर्ड के अधिकारियों को पहले से बने मकानों को बेचने की जिम्मेदारी दी गई। मुझे खुशी है कि स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल के निर्देशन में बोर्ड ने पिछले कुछ महीनों में अच्छा कार्य किया है। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि मानसरोवर क्षेत्र के लोगों को एक पार्क की कमी महसूस हो रही थी। इसी को देखते हुए हमारी सरकार ने सेंट्रल पार्क से भी बड़ा पार्क यहां बनाने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि पार्क बनने के बाद यहां के लोगों को घूमने-फिरने और बच्चों के खेलने के लिए अच्छी सुविधा मिल सकेगी।