ALL राजनीति खेल अपराध मनोरंजन कृषि विज्ञान राज्य योजनाएं धर्म देश - विदेश
गहलोत को चौथी बार मुख्यमंत्री बनाने की अपील, शांति धारीवाल ने
February 24, 2020 • छोटा अखबार • राज्य

गहलोत को चौथी बार मुख्यमंत्री बनाने की अपील, शांति धारीवाल

छोटा अखबार।
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने हाउसिंग बोर्ड की 50वीं स्वर्ण जयंती समारोह के कार्यक्रम में  कहा कि हाउसिंग बोर्ड के मकानों में शुरू से यही शिकायतें रहीं है कि इसमें क्वालिटी नहीं होती। अगर हाउसिंग बोर्ड के मकान या तो बनने नहीं चाहिए, अगर बनते हो तो उसमें क्वालिटी मेंटन होनी चाहिए।


गहलोत ने कहा इससे हाउसिंग बोर्ड की प्रतिष्ठा जनता के बीच बनेगी। स्व. द्वारिका प्रसाद पुरोहित हाउसिंग बोर्ड के संस्थापक अध्यक्ष थे, फ्रीडम फाइटर थे। मैंने उनको बहुत नजदीक से देखा है। 20 साल पहले मैं जब मुख्यमंत्री बना था तब हाउसिंग बोर्ड की स्थिति अच्छी नहीं थी। कई उतार चढ़ाव आए।पूर्ववर्ती सरकार ने इसके लिए कहा कि इसे बंद कर दो, पता नहीं उन्होंने ऐसा क्यो कहा ये समझ से परे है।
हाउसिंग बोर्ड आयुक्त ने सरकार से कई बार ​अतिक्रमण और अवैध निर्णमाण पर कार्यवाही के लिये पावर मांगे है, इस पर गहलोत ने कहा कि अगर पावर दे दी तो हाउसिंग बोर्ड का हाल भी जेडीए जैसा हो जाएगा। जयपुर विकास प्राधिकरण में भ्रष्टाचार व्याप्त है। दो बिल्डिंग है उसमें एक को तोड़ेंगे, एक को पैसे लेकर छोड़ेंगे। जनता में जेडीए को लेकर यही धारणा बनी हुई है। जेडीए में सही अधिकारी लगना नहीं चाहते, एक आईपीएस बैठा है वह कह रहा है मुझे हटाइए यहां से,जेडीए में जो फोर्स लगी है उसका रिव्यू करना होगा,सीएम ने हाउसिंग बोर्ड के अफसरों से कहा, आपने बिना पावर 1000 करोड़ की जमीन अतिक्रमण मुक्त करवा ली, अब पावर क्यों लेना चाहते हैं।


मुख्यमंत्री ने हाउसिंग बोर्ड के आयुक्त पवन अरोड़ा पर भी चुटकी लेते हुए कहा कि ये अधिकारी बहुत तेज है, इसलिए इनको हाउसिंग बोर्ड में लगाया गया है। गहलोत ने मुख्य सचिव डीबी गुप्ता की तरफ देखते हुए कहा कि आप आईएएस अधिकारियों के लिए कोई क्लब नहीं बना सके, लेकिन पवन अरोड़ा ने आरएएस अधिकारियों के लिए क्लब बनवा दिया, अगर आप ये काम इनको दे दो तो ये आईएएस के लिए भी क्लब बनवा देंगे।

वहीं समारोह में सभी पूर्व चेयरमैनों को आमंत्रित किया था। बतौर पूर्व चेयरमैन शामिल हुए अजयपाल पर भी मुख्यमंत्री ने तंज कसा। कहा अजयपाल का किस्सा पूरे राजस्थान में फेमस हुआ था। उस दौर में इनका फार्म हाउस बच गया ये क्या कम बात है। कभी अपने फार्म हाउस के दर्शन हमें भी कराइए। हमें भी कभी चाय नाश्ते पर या खाने पर बुलाइए। आखिर क्या खास बात है उस फार्म हाउस में।
वहीं यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल ने जेडीए कर्मचारियों से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को चौथी बार मुख्यमंत्री बनाने की अपील तक कर डाली। धारीवाल ने कहा कि बीच में अगर गैप आ गया तो फिर विकास के काम रुक जाएंगे। कर्मचारियों ने पहले 2003 में हमें बाहर किया, उसके बाद जब 2008 में हम सत्ता में आए तो विकास के खूब काम हुए और उसके बाद फिर 2013 में हमें फिर बाहर कर दिया। जिससे विकास के काम पूरी तरह ठप हो गए।