ALL राजनीति खेल अपराध मनोरंजन कृषि विज्ञान राज्य योजनाएं धर्म देश - विदेश
भारत के समग्र स्कोर में बड़ी गिरावट दर्ज
January 23, 2020 • छोटा अखबार • देश - विदेश

भारत के समग्र स्कोर में बड़ी गिरावट दर्ज

छोटा अखबार।
22 जनवरी को ब्रिटेन के द इकोनॉमिस्ट ग्रुप की द इंटेलिजेंस यूनिट ने 165 देशों की डेमोक्रेसी इंडेक्स के बारे में अपनी ताज़ा रिपोर्ट जारी की जिसके अनुसार भारत दस स्थान नीचे खिसक गया है। भारत को 2019 के लिए सूचकांक में 51वें स्थान पर रखा गया था। इससे पहले के साल में भारत 41वें स्थान पर था। रिपोर्ट के अनुसार डेमोक्रेसी इंडेक्स में दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र भारत के समग्र स्कोर में बड़ी गिरावट दर्ज की गई है। 0 से 10 के पैमाने पर भारत का स्कोर 2018 में 7.23 से गिरकर 2019 में 6.90 हो गया। इसका कारण देश में नागरिक स्वतंत्रता में कटौती करना बताया जा रहा है। वर्ष 2019 के स्कोर की तुलना अगर पिछले वर्षों से करें तो 2006 में रैंकिंग शुरू होने के बाद से यह सबसे कम स्कोर है।

रिपोर्ट में यह भी बताया है कि भारत प्रशासित कश्मीर से अनुच्छेद-370 हटाए जाने, असम में एनआरसी पर काम शुरू होने और फिर विवादित नागरिकता क़ानून, सीएए की वजह से नागरिकों में बढ़े असंतोष के कारण भारत के स्कोर में गिरावट दर्ज की गई।रिपोर्ट में भारत को एक ओर जहाँ राजनीतिक सहभागिता के मामले में अच्छे नंबर मिले हैं। वहीं देश के मौजूदा राजनीतिक संस्कृति की वजह से कई नंबर कट भी गए हैं। सभी देशों के स्कोर का आंकलन वहाँ की चुनाव प्रक्रिया, बहुलतावाद, नागरिक स्वतंत्रता और सरकार के कामकाज के आधार पर करते हैं।


ताज़ा रिपोर्ट के अनुसार साल 2019 लोकतंत्र के लिए सबसे ख़राब रहा। वैश्विक गिरावट मुख्य रूप से लैटिन अमरीकी, उप-सहारा अफ़्रीका और पश्चिम एशिया क्षेत्र में देखी गई। अधिकांश एशियाई देशों की रैंकिंग में 2019 में गिरावट देखी गई है।


नई रिपोर्ट में नॉर्वे टॉप पर बना हुआ है। अमरीका इस रिपोर्ट में 25वें, ऑस्ट्रेलिया 9वें, जपान 24वें, इसराइल 28वें और ब्रिटेन 14वें पायदान पर है। अगर हम भारत के पड़ोसी देशों की बात करें तो चीन 153वें, पाकिस्तान 108वें, नेपाल 92वें, बांग्लादेश 80वें और श्रीलंका 69वें नंबर पर है।